स्वोट विश्लेषण

स्वोट विश्लेषण की परिभाषा तरीके आवश्यकता व लाभ

स्वोट विश्लेषण एक महत्वपूर्ण योजना उपकरण है जो विद्यालय प्रबन्धन की शक्तियों एवं कमजोरियों को जानने में मदद करता है। साथ ही किसी भी अवसर और संकटों को पहचान कर किसी विशिष्ट स्थिति को सुधारने के लिए उपयोग करता है। यह विद्यालय प्रबन्धन में सुधार के लिए एक अच्छा उपकरण है। स्वोट (SWOT) एक संक्षिप्त …

स्वोट विश्लेषण की परिभाषा तरीके आवश्यकता व लाभ Read More »

शैक्षिक प्रशासन

शैक्षिक प्रशासन की विशेषताएँ प्रकृति उद्देश्य कार्य आवश्यकता

शैक्षिक प्रशासन का सम्बन्ध शिक्षा जगत की एक ऐसी मानवीय प्रक्रिया से है जिसके अन्तर्गत शिक्षा का समुचित संगठन एवं प्रबन्धन का प्रयास किया जाता है। आधुनिक युग में शिक्षा का क्षेत्र प्रशासन का अर्थ केवल शिक्षा की व्यवस्था करना तो नहीं है अपितु शिक्षा से सम्बन्धित विभिन्न शैक्षिक नीतियों का निर्धारण करना, योजना बनाना, …

शैक्षिक प्रशासन की विशेषताएँ प्रकृति उद्देश्य कार्य आवश्यकता Read More »

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

Lucknow University BEd 4th Semester Syllabus

Lucknow University BEd 4th Semester Syllabus Lucknow University BEd 4th Semester Syllabus Paper Paper Name Marks Paper 1 Contemporary India and Education 80+20 Practicum Internship – 16 weeks 200 Field Work Comprehensive Viva-Voce (Based on complete B.Ed. course) 100 Total ———————- 400 Contemporary India and Education

RMLAU BEd Syllabus

Lucknow University BEd 3rd Semester Syllabus

Lucknow University BEd 3rd Semester Syllabus Lucknow University BEd 3rd Semester Syllabus Paper Paper Name Marks Paper 1 Measurement and Evaluation in Education 80+20 Paper 2 Theoretical Foundations of Curriculum 80+20 Paper 3 Guidance and Counselling 80+20 Field Work Four weeks of practice in teaching 200 Total ———————- 500 Guidance and Counselling

समावेशी शिक्षा का इतिहास

Lucknow University BEd 2nd Semester Syllabus

Lucknow University BEd 2nd Semester Syllabus ContentsLucknow University BEd 2nd Semester SyllabusPedagogy of School Subjectसमावेशी शिक्षाSchool Management and HygieneOptional Paper Lucknow University BEd 2nd Semester Syllabus Paper Paper Name Marks Paper 1 Pedagogy of School Subject 1 80+20 Paper 2 Pedagogy of School Subject 2 80+20 Paper 3 समावेशी शिक्षा 80+20 Paper 4 School Management …

Lucknow University BEd 2nd Semester Syllabus Read More »

शिक्षण नीतियाँ

Lucknow University BEd 1st Semester Syllabus

Lucknow University BEd 1st Semester Syllabus ContentsLucknow University BEd 1st Semester Syllabusशिक्षा के दार्शनिक और सामाजिक परिप्रेक्ष्यशिक्षा के मनोवैज्ञानिक परिप्रेक्ष्यशिक्षा के तकनीकी परिप्रेक्ष्य Lucknow University BEd 1st Semester Syllabus Paper Paper Name Marks Paper 1 शिक्षा के दार्शनिक और सामाजिक परिप्रेक्ष्य 80+20 Paper 2 शिक्षा के मनोवैज्ञानिक परिप्रेक्ष्य 80+20 Paper 3 शिक्षा के तकनीकी परिप्रेक्ष्य …

Lucknow University BEd 1st Semester Syllabus Read More »

shallow focus photography of books

Lucknow University BEd Syllabus

Lucknow University BEd Syllabus is live now. बी॰एड॰ First में 4, Second में 5, Third sem में 3 व चौथे समेस्टर में सिर्फ एक प्रश्न पत्र की परीक्षा देनी है। पहले व चौथे समेस्टर में 400 अंक का तथा दूसरे और तीसरे semester में 500 अंक का मूल्यांकन होना है। चारों समेस्टर में कुल मिलाकर …

Lucknow University BEd Syllabus Read More »

हिंदी विराम चिन्ह

SUKSN BEd 2nd Year Syllabus

SUKSN BEd 2nd Year Syllabus is live now. Siddharth University कपिलवस्तु से BEd कर रहे विद्यार्थी अपने बी एड के द्वितीय वर्ष के सिलबस को यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं। साथ ही साथ यहाँ आपको आपके Syllabus के महत्वपूर्ण Topics की भी जानकारी दी गयी है। ContentsSUKSN BEd 2nd Year SyllabusTeaching and LearningPedagogy of …

SUKSN BEd 2nd Year Syllabus Read More »

shallow focus photography of books

SUKSN BEd 1st Year Syllabus

SUKSN BEd 1st Year Syllabus अब download करना बहुत आसान हो चुका है। Siddharth University से संबद्ध सभी महाविद्यालयों में b.ed कर रहे प्रथम वर्ष के विद्यार्थी b.ed प्रथम वर्ष का सिलेबस को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए प्रश्न पत्रों में जिस प्रथम पत्र का Syllabus डाउनलोड करना है उस पर क्लिक करना …

SUKSN BEd 1st Year Syllabus Read More »

VBSPU BEd Syllabus

SUKSN BEd Syllabus Download Now Free

SUKSN BEd Syllabus download कैसे करें। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय से सम्बद्ध महाविद्यालयों में जो बी॰एड॰ का कोर्स चल रहा है उसका Syllabus कैसे डाउनलोड करना है, यहाँ विस्तार पूर्वक बताया गया है। साथ ही साथ किस वर्ष कौन सा पेपर कितने अंक का पूछा जाता है यह भी बताया गया है। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु के b.ed …

SUKSN BEd Syllabus Download Now Free Read More »

शिक्षण नीतियाँ

DDUGU BEd 2nd Year Syllabus

DDUGU BEd 2nd Year Syllabus is live now. Students can get the syllabus from here. ContentsDDUGU BEd 2nd Year SyllabusTeaching and LearningPedagogy of School SubjectPopulation Education and Environmental Education DDUGU BEd 2nd Year Syllabus Paper Paper Name अंक 1 Teaching and Learning 80 2 Pedagogy of School Subject – I 100 3 Pedagogy of School …

DDUGU BEd 2nd Year Syllabus Read More »

ई लर्निंग, शिक्षण सूत्र

DDUGU BEd 1st Year Syllabus

DDUGU BEd 1st Year Syllabus is live now. दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय से सम्बद्ध जिन college में B.Ed. का कोर्स चल रहा है वहाँ के विद्यार्थी BEd 1st Year Syllabus के महत्वपूर्ण टॉपिक के अध्ययन के साथ साथ syllabus भी आसानी से डाउनलोड कर सकेंगे। ContentsDDUGU BEd 1st Year SyllabusKnowledge and CurriculumChildhood and Growing UpContemporary …

DDUGU BEd 1st Year Syllabus Read More »

JNCU BEd Syllabus

DDUGU BEd Syllabus Download Now Free

DDUGU BEd Syllabus for the current session is live now. दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय से सम्बद्ध जिन college में B.Ed. का कोर्स चल रहा है। BEd का Syllabus क्या है? DDUGU BEd का कितने अंक का पेपर आता है? बी एड प्रथम वर्ष में तथा द्वितीय वर्ष में कौन कौन से पेपर है? University Deen …

DDUGU BEd Syllabus Download Now Free Read More »

JNCU BEd Syllabus

RMLAU BEd Syllabus Download Now Free

RMLAU BEd Syllabus 2022 डाउनलोड कैसे करना है? किस वर्ष में कौन सा पेपर है? कितने अंक का कौन सा प्रश्न पत्र आता है? bed के pedagogy के प्रश्न पत्र की तैय्यारी करने के लिए क्या करे? RMLAU BEd में कितनी बार और कब कब पेपर होंगे? bed के पाठ्यक्रम में क्या क्या है? Dr. …

RMLAU BEd Syllabus Download Now Free Read More »

शिक्षण

RMLAU BEd First Year Syllabus Download Now Free

RMLAU BEd First Year Syllabus ContentsRMLAU BEd First Year SyllabusKnowledge and CurriculumPsychology of Learning and DevelopmentEducation Technology and ICTPedagogy of School Subject RMLAU BEd First Year Syllabus Paper Paper Name अंक 1 Knowledge and Curriculum 80 2 Psychology of Learning and Development 80 3 Education Technology and ICT 80 4 Pedagogy of School Subject 1 …

RMLAU BEd First Year Syllabus Download Now Free Read More »

वंचित वर्ग की शिक्षा

RMLAU BEd Second Year Syllabus Download Now Free

RMLAU BEd Second Year Syllabus ContentsRMLAU BEd Second Year SyllabusEducational Administration, Management, and Environmental EducationAssessment of Learning and Action ResearchContemporary India and Education: Concerns and IssuesSyllabus in Detail RMLAU BEd Second Year Syllabus Paper Paper Name अंक 1 Educational Administration, Management, and Environmental Education 80 2 Assessment of Learning and Action Research 80 3 Contemporary …

RMLAU BEd Second Year Syllabus Download Now Free Read More »

shallow focus photography of books

सहयोगी अनुशिक्षण उद्देश्य प्रक्रियाएं लाभ व सीमाएं

सहयोगी अनुशिक्षण एक ऐसी प्रक्रिया है जिससे एक से एक को शिक्षण या अधिगम किया जाता है। यह प्रक्रिया विद्यालयों में समावेशन को प्रोत्साहित करती है। इसमें एक व्यक्ति जो वरिष्ठ या पुराना विद्यार्थी या विशेषज्ञ अध्यापक अनुशिक्षक की भूमिका में होता है और अधिगमकर्ता वह होता है जो निर्देशन ग्रहण करता है। अनुशिक्षण बालक …

सहयोगी अनुशिक्षण उद्देश्य प्रक्रियाएं लाभ व सीमाएं Read More »

शिक्षण नीतियाँ

सहकारी अधिगम के उद्देश्य व दिशा निर्देश

सहकारी अधिगम – भारतीय विद्यालय प्रणाली में ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है जहाँ बालक समूह में कार्य करते हों। समावेशी कक्षा में जहाँ असंख्य बालक होते हैं, वहाँ बच्चों को सहकारी अधिगम विधि से पढ़ाया जा सकता है। इस तरह से बच्चे सीखने में एक-दूसरे की मदद करते हैं। वे समस्याओं के समाधान …

सहकारी अधिगम के उद्देश्य व दिशा निर्देश Read More »

शिक्षण नीतियाँ

कक्षा प्रबन्धन के सिद्धांत व शिक्षक की भूमिका

कक्षा प्रबन्धन के द्वारा शिक्षण प्रक्रिया को संगठित किया जाता है। कक्षा प्रबन्धन को क्रिया प्रवृत्ति के आधार पर परिभाषित किया गया है। यह ऐसी प्रक्रिया है जिसमें अध्यापक और विद्यार्थियों के सम्बन्धों और अन्तः सम्बन्धों के माध्यम से अधिगम की प्रक्रिया सम्पादित होती है तथा कक्षा में कार्य तथा क्रियाकलापों से अधिगम परिस्थितियाँ पैदा …

कक्षा प्रबन्धन के सिद्धांत व शिक्षक की भूमिका Read More »

स्मृति स्तर शिक्षण

श्रवण बाधित बालक की विशेषताएँ व शिक्षण विधियाँ

श्रवण बाधित बालक – श्रवण, मौखिक सन्देश वाहकता व भाषा विकास का मुख्य ज्ञानेन्द्रीय मार्ग है। श्रवण बोध दोष युक्त होने पर बालक को शाब्दिक अभिव्यक्ति का विकास भी ठीक प्रकार से नहीं हो पाता है। इसके अतिरिक्त श्रवण अधिगम व मानसिक परिपक्वता के विभिन्न पक्षों को भी प्रभावित करता है। ‘कानों के द्वारा सुनने …

श्रवण बाधित बालक की विशेषताएँ व शिक्षण विधियाँ Read More »

प्रतिभाशाली बालक

संवेगात्मक बालक की पहचान व समस्याएँ

संवेगात्मक बालक को पहचानने की उत्तम विधि निरीक्षण विधि है। विभिन्न श्रेणी में आने वाले बालकों के लक्षणों का भली प्रकार अध्ययन करके ऐसे बालकों की पहचान की जा सकती है। मनोवैज्ञानिकों तथा मनोचिकित्सकों की सहायता भी अवश्य ली जानी चाहिए। यदि अध्यापक को किसी प्रकार का सन्देह बालक की संवेगात्मक स्थिति को देखकर होता …

संवेगात्मक बालक की पहचान व समस्याएँ Read More »

प्रतिभाशाली बालक

प्रतिभाशाली बालक की विशेषताएँ पहचान व शिक्षा के 11 सिद्धांत

प्रतिभाशाली बालक की विशेषताएँ हमें सामान्य बालकों से तुलना करने में मदद करती है। ये बालक सम्पूर्ण राष्ट्र हेतु अमूल्य विधि हैं। ये बालक उच्च बुद्धिलब्धि के होते हैं। इनकी बुद्धिलब्धि सामान्यतः 130-140 से उच्च होती है। ये बालक साधारण बालकों से बहुत योग्य होते हैं, जो कार्य इन्हें प्रदान किया जाता है। ये उन्हें …

प्रतिभाशाली बालक की विशेषताएँ पहचान व शिक्षा के 11 सिद्धांत Read More »

विशिष्ट बालक, संवेगात्मक बालक

विशिष्ट बालक परिभाषा विशेषताएँ व शिक्षा व्यवस्था

विशिष्ट बालक – प्रत्येक विद्यालय में शिक्षा प्राप्त करने के लिए सामान्य बालकों के अलावा कुछ ऐसे बालक भी आते हैं जिनकी अपनी कुछ शारीरिक एवं मानसिक विशेषताएँ होती हैं। इनमें से कुछ प्रतिभाशाली, कुछ मंद बुद्धि, कुछ पिछड़े हुए और कुछ शारीरिक दोषों वाले बालक होते हैं। इन्हें ‘विशिष्ट बालक’ अथवा ‘अपवादात्मक’ बालक कहते …

विशिष्ट बालक परिभाषा विशेषताएँ व शिक्षा व्यवस्था Read More »

विकलांगता अधिनियम, वंचित बालकों की समस्याएँ

वंचित बालकों की समस्याएँ – 51 Problems of Deprived Children

वंचित बालकों की समस्याएँ सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक रूप से वंचित बालकों की अपने ही विशेषताएँ होती हैं। अनेकों सैद्धान्तिक एवं आनुभाविक अध्ययनों के आधार पर यह पाया गया कि वंचित बालकों की संज्ञानात्मक, अभिप्रेरणात्मक एवं परिवेशीय विशेषताएँ उनके व्यवहार में परिलक्षित होती हैं। यहाँ इन्हीं का संक्षिप्त रूप से वर्णन किया जायेगा। Contentsवंचित बालकों …

वंचित बालकों की समस्याएँ – 51 Problems of Deprived Children Read More »

संवेगात्मक बालक

वंचित बालक परिभाषा लक्षण व विशेषताएँ

कुछ बालक ऐसे होते हैं जो सुविधाओं के क्षेत्र में सामान्य बालक से कम होते हैं। वंचित बालक कहलाते हैं। ये विभिन्न प्रकार की सुविधाओं; जैसे—आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक से वंचित रह जाते हैं। यथा भाषा, धर्म, जाति, क्षेत्र, वर्ण, लिंग के कारण अपवंचित रह जाते हैं। इन सुविधाओं के अभाव में उनका विकास सामान्य बालकों …

वंचित बालक परिभाषा लक्षण व विशेषताएँ Read More »

विकलांगता अधिनियम, वंचित बालकों की समस्याएँ

विकलांगता अधिनियम 1995 के सम्बंध में सरकार के प्रयास

विकलांगता अधिनियम 1995 को अधिनियम के कार्यान्वयन में प्राप्त अनुभव के प्रकाश में, नए वर्षों में विकलांगता क्षेत्र में किए गए विकास और संयुक्त राष्ट्र के तहत प्रतिबद्धताअ के प्रकाश में एक नए कानून द्वारा प्रतिस्थापित करने का प्रस्ताव रखा गया था। इस इकाई में हम मौजूदा कृत्यों और नीतियों के बारे में चर्चा करेंगे …

विकलांगता अधिनियम 1995 के सम्बंध में सरकार के प्रयास Read More »

five children smiling

वंचित वर्ग की शिक्षा हेतु किए गए 21 प्रयास

वंचित वर्ग की शिक्षा अवधारणा स्पष्ट करने की दृष्टि से सबसे पहले ‘ वंचित’ शब्द का अर्थ समझन ‘चाहिए। ‘वंचित’ शब्द का अर्थ है, ‘किसी चीज से रहित होना’ या ‘किसी अधिकार का छिन जाना अथवा ‘किसी वस्तु को प्राप्त करने से रोकना।’ इसका आशय है कि जब किसी व्यक्ति की किस आवश्यकता की पूर्ति …

वंचित वर्ग की शिक्षा हेतु किए गए 21 प्रयास Read More »

colored pencil lined up on top of white surface

शिक्षा का अधिकार रूपरेखा इतिहास व विशेषताएँ

शिक्षा का अधिकार में भारत के प्रत्येक नागरिक को प्राथमिक शिक्षा पाने का अधिकार है। इस सम्बन्ध में ” प्रारम्भिक (प्राथमिक व मध्य स्तर) पर शिक्षा निःशुल्क हो, प्रारम्भिक शिक्षा अनिवार्य हो तथा तकनीकी व्यावसायिक शिक्षा को सर्वसुलभ बनाया जाए एवं उच्च शिक्षा सभी की पहुँच के भीतर हो।” कुछ ऐसे बुनियादी सिद्धान्त हैं जो …

शिक्षा का अधिकार रूपरेखा इतिहास व विशेषताएँ Read More »

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की विशेषताएँ व विवरण

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अन्तर्गत स्कूलों तथा कॉलेजों में होने वाली शिक्षा की नीति तैयार की जात है। भारत सरकार ने नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 आरम्भ की है। जिसके अन्तर्गत सरकार: एजुकेशन पॉलिसी में काफी सारे मुख्य बदलाव किए हैं। नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के माध्यम भारत को वैश्विक ज्ञान महाशक्ति बनाना है। …

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की विशेषताएँ व विवरण Read More »

चिंतन स्तर शिक्षण

समावेशी शिक्षा का इतिहास भारतीय परिप्रेक्ष्य में

समावेशी शिक्षा का इतिहास – हमारे देश में लगभग 20% बच्चे ऐसे हैं, जो किसी-न-किसी रूप में मानसिक रूप से कमजोर हैं तथा लगभग इतने ही बच्चे ऐसे हैं, जो कि प्रतिभावान बालकों की श्रेणी में आते हैं। प्राचीन काल में इन बच्चों की शिक्षा पर अधिक ध्यान नहीं दिया जाता था। जैसे-जैसे शिक्षा के …

समावेशी शिक्षा का इतिहास भारतीय परिप्रेक्ष्य में Read More »

अनुरूपित शिक्षण, कक्षा प्रबन्धन

समावेशी शिक्षा परिभाषा विशेषताएँ उद्देश्य व विकास

समावेशी शिक्षा वह शिक्षा होती है, जिसके द्वारा विशिष्ट क्षमता वाले बालक जैसे मन्दबुद्धि, अन्धे बालक, बहरे तथा प्रतिभाशाली बालकों को ज्ञान प्रदान किया जाता है। Contentsसमावेशी शिक्षासमावेशी शिक्षा की विशेषताएँसमावेशी शिक्षा का महत्वसमावेशी शिक्षा का क्षेत्रसमावेशी शिक्षा का उद्देश्यसमावेशी शिक्षा की आवश्यकतासमावेशी शिक्षा के सिद्धान्तसमावेशी शिक्षा का विकासविशिष्ट शिक्षा और समावेशी शिक्षा में अन्तर …

समावेशी शिक्षा परिभाषा विशेषताएँ उद्देश्य व विकास Read More »

सूचना सम्प्रेषण तकनीकी

सूचना सम्प्रेषण तकनीकी घटक लक्ष्य आवश्यकता महत्व

सूचना सम्प्रेषण तकनीकी सूचनाओं के एकत्रीकरण एवं सम्प्रेषण की कहानी उतनी ही पुरानी है जितनी कि हमारी सभ्यता एवं संस्कृति। जब कोई यान्त्रिक साधन उपलब्ध नहीं थे, उस समय भी सूचनाओं का एकत्रीकरण, संग्रह तथा स्थानान्तरण होता था। समस्त ज्ञान कंठस्थीकरण के माध्यम से स्मृति रूप में मस्तिष्क में संजोया जाता था और मौखिक रूप …

सूचना सम्प्रेषण तकनीकी घटक लक्ष्य आवश्यकता महत्व Read More »

सूचना सम्प्रेषण तकनीकी के लक्ष्य

जनसंचार परिभाषा आवश्यकता महत्व व वर्गीकरण

वर्तमान युग में जनसंचार के माध्यमों का बड़ा ही शैक्षिक महत्व है। जनसंचार के माध्यमों के महत्व को आधुनिक युग में सभी के द्वारा स्वीकार किया जा रहा है। जनसंचार के माध्यम शिक्षा के अनौपचारिक अभिकरणों के अन्तर्गत आते हैं। जनसंचार हेतु आंग्ल भाषा में ‘Mass Media’ शब्द का प्रयोग किया जाता है। सामान्य रूप …

जनसंचार परिभाषा आवश्यकता महत्व व वर्गीकरण Read More »

person wearing white and black sunglasses

श्रव्य दृश्य सामग्री परिभाषा आवश्यकता व महत्व

श्रव्य दृश्य सामग्री वे उपकरण / सामग्री जिनका प्रयोग कक्षा में विद्यार्थियों के समक्ष करके अध्यापन करने से उनके देखने तथा सुनने वाली इन्द्रियों को ज्ञान प्राप्त करने का अवसर प्राप्त होता है। दृश्य सामग्री का मनोवैज्ञानिक आधार एक इन्द्रिय के बजाय अनेक इन्द्रियों से ज्ञान प्राप्त करने का अवसर दिया जाता है। जिससे बालक …

श्रव्य दृश्य सामग्री परिभाषा आवश्यकता व महत्व Read More »

shallow focus photography of books

अनुरूपित शिक्षण विशेषताएँ लाभ हानि सीमाएँ

किसी दी हुई कृत्रिम परिस्थिति में बिल्कुल यथार्थ जैसा शिक्षण करना ही अनुरूपित शिक्षण कहलाता है। अनुरूपित शिक्षण सीखने तथा प्रशिक्षण कि वह प्रविधि है जो अभिनय के माध्यम से छात्राध्यापक के समस्या समाधान, व्यवहार के लिए योग्यता का विकास करती है, तथा उसे भली-भांति पढ़ाने का प्रशिक्षण प्रदान करती है। Contentsअनुरूपित शिक्षणअनुरूपित शिक्षण की धारणाअनुरूपित …

अनुरूपित शिक्षण विशेषताएँ लाभ हानि सीमाएँ Read More »

श्यामपट

श्यामपट परिभाषा उपयोग प्रकार व सावधानियाँ

प्राध्यापक के लिए चॉक तथा श्यामपट उतने ही आवश्यक हैं जितने कि एक सैनिक के लिए शस्त्र। अच्छा प्राध्यापक सदैव इनका प्रयोग करता है। लेकिन किस प्रकार से इनका सही एवं उचित उपयोग किया जाये यह युक्ति बहुत कम अध्यापकों को ज्ञात है। भारतवर्ष जैसे निर्धन राष्ट्र में यह एक सामान्य – शिक्षण की सहायक …

श्यामपट परिभाषा उपयोग प्रकार व सावधानियाँ Read More »

वाद विवाद विधि

वाद विवाद विधि उद्देश्य सिद्धांत गुण व सीमाएँ

वाद विवाद विधि – आधुनिक युग में ज्ञान के क्षेत्रों का तीव्र गति से विकास हो रहा है। नये-नये आविष्कारों ने मानव मस्तिष्क के चिन्तन के द्वार खोल दिये हैं। ऐसी परिस्थिति में उच्च स्तर पर केवल व्याख्यान विधि से शिक्षण करना ठीक नहीं बल्कि आवश्यकता है कि शिक्षक तथा छात्र परस्पर विचारों का आदान-प्रदान …

वाद विवाद विधि उद्देश्य सिद्धांत गुण व सीमाएँ Read More »

मस्तिष्क उद्वेलन व्यूह रचना

मस्तिष्क उद्वेलन व्यूह रचना की विशेषताएँ व लाभ

मस्तिष्क उद्वेलन व्यूह रचना – मस्तिष्क उद्वेलन का शब्दकोशीय अर्थ होता है मस्तिष्क को उद्वेलन करना, उसमें उथल-पुथल मचाना यानी कि ऐसी आँधी लाना जिसमें किसी वस्तु व्यक्ति प्रक्रिया या सम्प्रत्यय के बारे में अनगिनत विचार तथा सोच एक साथ अनायास ही उनकी अच्छाई-बुराई औचित्य अनौचित्य की परवाह किए बिना मस्तिष्क पटल पर उभर जाएँ। …

मस्तिष्क उद्वेलन व्यूह रचना की विशेषताएँ व लाभ Read More »

शिक्षण विशेषताएँ

प्रदर्शन नीति की विशेषताएँ दोष व सुझाव

प्रदर्शन नीति का शिक्षण के क्षेत्र में काफी महत्व है। प्रदर्शन नीति में छात्र एवं शिक्षक दोनों ही सक्रिय रहते हैं। कक्षा में शिक्षक सैद्धान्तिक भाग का विवेचन करने के साथ इस विधि द्वारा उसका सत्यापन करता है। शिक्षक पढ़ाते समय प्रयोग करता जाता है और छात्र प्रयोग-प्रदर्शन का निरीक्षण करते हुए ज्ञान प्राप्त करते …

प्रदर्शन नीति की विशेषताएँ दोष व सुझाव Read More »

शिक्षण नीतियाँ

व्याख्यान नीति की 11 विशेषताएँ दोष व सुझाव

व्याख्यान नीति – व्याख्यान का तात्पर्य किसी भी पाठ को भाषण के रूप में पढ़ाने से है। शिक्षक किसी विषय विशेष पर कक्षा में व्याख्यान देते हैं तथा छात्र निष्क्रिय होकर सुनते रहते हैं। यह विधि उच्च स्तर की कक्षाओं के लिए उपयोगी मानी जाती है। व्याख्यान विधि में विषय की सूचना दी जा सकती …

व्याख्यान नीति की 11 विशेषताएँ दोष व सुझाव Read More »

शिक्षण नीतियाँ

शिक्षण नीतियाँ परिभाषाएँ 9 विशेषताएँ वर्गीकरण

शिक्षण नीतियाँ दो शब्दों से मिलकर बना है-शिक्षण + नीतियाँ। शिक्षण एक अन्तक्रियात्मक प्रक्रिया है जो कक्षागत परिस्थितियों में वांछित उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए छात्र और शिक्षकों के द्वारा सम्पन्न की जाती है। नीतियाँ योजना, नीति, चतुराई तथा कौशल की ओर संकेत करती हैं। कौलिन इंगलिश जैम शब्दकोष के अनुसार नीति का अर्थ …

शिक्षण नीतियाँ परिभाषाएँ 9 विशेषताएँ वर्गीकरण Read More »

शिक्षण

शिक्षण सूत्र क्या है? विभिन्न प्रकार के 11 शिक्षण

शिक्षण सूत्र में अच्छा शिक्षक सदैव अपने ज्ञान तथा अनुभवों की व्याख्या छात्रों के मस्तिष्क तक पहुँचाने में सफल होता है। छात्रों को उनकी रुचि एवं जिज्ञासा के अनुकूल, विषय-वस्तु का ज्ञान प्रदान करना, ज्ञान को स्पष्ट रूप से समझाना तथा ऐसी कक्षा-परिस्थितियाँ एवं कक्षा वातावरण तैयार करना, जिसमें छात्र अधिकतम अधिगम क्रियायें तथा अधिगम …

शिक्षण सूत्र क्या है? विभिन्न प्रकार के 11 शिक्षण Read More »

शिक्षण

शिक्षण के सिद्धान्त व 13 शिक्षण के मनोवैज्ञानिक सिद्धान्त

शिक्षण के सिद्धान्त, शिक्षण को प्रभावशाली बनाने के लिये अनेक दार्शनिकों, शिक्षा विशेषज्ञों तथा समाजशास्त्रियों ने अनेक शोध तथा प्रयोग एवं गहन चिन्तन किया है जिसके फलस्वरूप शिक्षण के क्षेत्र में अनेक शोध एवं प्रयोग सम्पन्न किये गये। शिक्षण के क्षेत्र में हुए इन शोध, प्रयोग तथा सामान्य परम्पराओं के फलस्वरूप शिक्षण के सामान्य सिद्धान्त …

शिक्षण के सिद्धान्त व 13 शिक्षण के मनोवैज्ञानिक सिद्धान्त Read More »

पाठ्यपुस्तक विधि

चिंतन स्तर शिक्षण के 11 गुण 5 दोष व सुझाव

चिंतन स्तर शिक्षण, शिक्षण का उच्चतम स्तर माना जाता है। यह शिक्षण स्तर, स्मृति तथा बोध स्तरों की अपेक्षा सर्वाधिक विचार युक्त माना जाता है। इस स्तर के शिक्षण में शिक्षण सम्बन्धी सभी कार्य उच्च मानसिक स्तर पर किये जाते हैं। छात्रों की मानसिक शक्तियों तथा बौद्धिकता को अपनी चरम सीमा तक पहुँचाने का कार्य …

चिंतन स्तर शिक्षण के 11 गुण 5 दोष व सुझाव Read More »

शिक्षण

बोध स्तर शिक्षण के 7 गुण 5 दोष व 11 सुझाव

बोध स्तर शिक्षण स्मृति स्तर के शिक्षण की तुलना में अधिक विचार युक्त माना जाता है इसलिये मानसिक शक्तियों एवं बौद्धिक क्षमताओं हेतु स्मृति स्तर की अपेक्षा उच्च स्तर की आवश्यकता होती है। बोध शब्द को शिक्षण के क्षेत्र में कई अलग-अलग अर्थों में प्रयुक्त किया जाता है. कुछ प्रमुख अर्थ इस प्रकार से हैं- …

बोध स्तर शिक्षण के 7 गुण 5 दोष व 11 सुझाव Read More »

स्मृति स्तर शिक्षण

स्मृति स्तर शिक्षण के गुण 6 दोष व 8 सुझाव

स्मृति स्तर शिक्षण की क्रियायें इस प्रकार की परिस्थितियों की रचना करती हैं जिससे छात्र पढ़ी हुई पाठ्य वस्तु को कण्ठस्थ कर सकें या रट सकें। विषय-वस्तु जितनी सार्थक होती है रटना उतना ही आसान होता है। कण्ठस्थ करने का बुद्धि से कोई सीधा सम्बन्ध नहीं पाया जाता है अतः स्मृति स्तर शिक्षण के परिणामों …

स्मृति स्तर शिक्षण के गुण 6 दोष व 8 सुझाव Read More »

शिक्षण विशेषताएँ

शिक्षण के स्तर – 1. स्मृति स्तर 2. बोध स्तर 3. चिंतन स्तर

शिक्षण के स्तर – शिक्षण एक सदैव चलने वाली उद्देश्यपूर्ण प्रक्रिया है। औपचारिक रूप से शिक्षण प्राथमिक से लेकर उच्चस्तरीय शिक्षा तक चलता रहता है। शिक्षण का प्रारम्भ अर्थहीन से लेकर गहन अर्थ तक चलता रहता है। शिक्षण कक्षा में विभिन्न कार्यों को करने की एक व्यवस्था है जिसका मुख्य उद्देश्य छात्रों को सीखते रहने …

शिक्षण के स्तर – 1. स्मृति स्तर 2. बोध स्तर 3. चिंतन स्तर Read More »

शिक्षण अर्थ

शिक्षण अर्थ विशेषताएँ प्रकृति व स्वरूप

शिक्षण कार्यों के विषय में ज्ञान प्राप्त करने से पूर्व शिक्षण का अर्थ समझना अधिक युक्तिपूर्ण होगा। शिक्षण अंग्रेजी के शब्द Teaching का हिन्दी पर्याय है। शिक्षण एक सामाजिक प्रक्रिया है। अतः इस पर प्रत्येक देश की शासन-प्रणाली सामाजिक दर्शन, सामाजिक परिस्थितियों तथा मूल्यों आदि का प्रभाव पड़ता है। जिस देश में जैसी शासन प्रणाली …

शिक्षण अर्थ विशेषताएँ प्रकृति व स्वरूप Read More »

ई लर्निंग के प्रकार

ई लर्निंग विशेषताएँ उपकरण प्रकार शैली उपयोगिता व सीमाएँ

ई लर्निंग इलेक्ट्रॉनिक लर्निंग का संक्षिप्त रूप है। इसका शाब्दिक अर्थ ऐसे अधिगम या सीखने से है जिसमें इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, माध्यमों या संसाधनों की सहायता से सम्पादित किया जाता है। ई लर्निंग में सभी प्रकार के आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक साधनों जैसे- सीडी रोम, डी.वी.डी. टेलीकॉन्फ्रेंसिंग, इंटरनेट, ऑन लाइन लर्निंग, वेबसाइट पर उपलब्ध पाठ्यपुस्तक, सहायक पाठ्य सामग्री …

ई लर्निंग विशेषताएँ उपकरण प्रकार शैली उपयोगिता व सीमाएँ Read More »

MGKVP BEd 1st Semester Syllabus, कम्प्यूटर सहाय अनुदेशन

कम्प्यूटर सहाय अनुदेशन मान्यताए, टेक्नॉलाजी व 8 प्रकार

कम्प्यूटर सहाय अनुदेशन – आज के वर्तमान समय में कम्प्यूटर को विज्ञान और तकनीकी द्वारा मानव जाति को दिया जाने वाला सबसे अमूल्य उपहार कहा जा है। इसने हमारे जीवन के सभी क्षेत्रों में एक अद्भुत सा चमत्कार ला दिया है। आज हमारे जीवन की लगभग सभी क्रियाएँ कम्प्यूटर से जुड़ी हुई है। कम्प्यूटरों की …

कम्प्यूटर सहाय अनुदेशन मान्यताए, टेक्नॉलाजी व 8 प्रकार Read More »