पूंजीवादी अर्थव्यवस्था 10 विशेषताए 8 लाभ 12 दोष

पूँजीवादी अर्थव्यवस्था प्रतियोगिता के आधार पर संगठित व्यवस्था है। इस व्यवस्था पर कीमत संयन्त्र का सम्पूर्ण नियन्त्रण होता है। अर्थव्यवस्था में उत्पादन के सम्पूर्ण साधनों पर व्यक्तियों अथवा व्यक्तिगत संस्थाओं का स्वामित्व होता है। इन साधनों का उपयोग वे निजी लाभ को अधिकाधिक बढ़ाने के लिए स्वतन्त्रतापूर्वक करते हैं। इस व्यवस्था में वस्तुओं के उत्पादन, उनके उपभोग, उनके मूल्य निर्धारण

समाजवादी अर्थव्यवस्था परिभाषाएं 8 विशेषताएं 9 लाभ 8 दोष

समाजवादी अर्थव्यवस्था का प्रारम्भ सामान्यतः पिछली शताब्दी के प्रथम चरण में रॉबर्ट ओवन द्वारा प्रतिपादित फैक्ट्री सुधारों के साथ-साथ माना जाता है किन्तु इसे व्यवस्थित एवं वैज्ञानिक रूप सन् 1848 में कार्ल मार्क्स ने दिया। वर्तमान में समाजवाद अनेक भ्रान्तियों और विवादों के घेरे में है। विभिन्न विद्वानों ने इसे अपने-अपने दृष्टिकोण से अभिव्यक्ति दी है। समाजवादी अर्थव्यवस्था सामान्यतः पूँजीवाद

जिला परिषद संरचना बैठक 11 कार्य

जिला परिषद पंचायती राज की सबसे ऊपरी संस्था है। जिला परिषद ग्राम पंचायतों एवं पंचायत समितियों का मूलतः नीति निर्धारण एवं मार्गदर्शन का काम करती है। जिला परिशद् की मुख्य धारा एवं उससे संबंधित प्रावधानों का विवरण इस प्रकार है- जिला परिषद की संरचना जिला परिषद् का भी ग्राम पंचायत एवं पंचायत समिति की तरह ही अपना प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र

पंचायत समिति संरचना बैठक 32 कार्य बजट

पंचायत समिति ग्राम पंचायत और जिला परिषद् के बीच की एक महत्त्वपूर्ण कड़ी है। त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के अन्तर्गत पंचायत समिति मध्यवर्ती पंचायत के रूप में भूमिका निभाता है। जिस प्रकार केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के प्रशासनिक एवं विधायी सम्बन्धी सारे कार्य संविधान के नियमों के अनुकूल संचालित होता है, उसी प्रकार पंचायत समिति के सारे कार्य संबंधित

भारत के वंश
इतिहास

मध्यकालीन भारत के वंश – गुप्त, हर्यक, शिशुंनाग, नंद वंश

भारत पर कई वंशों ने शासन किया। जिनमे से गुप्त वंश, हर्यक वंश, शिशुंनाग वंश, नंद वंश के बारे में संक्षेप में जानेंगे। किसी एक ही परिवार से एक के बाद एक शासन करने वाले व्यक्तियों को वंश कहते हैं। मध्यकालीन भारत में ऐसे ही अनेक वंशों ने भारत पर राज किया। गुप्त वंश गुप्त वंश (319ई॰ -550ई॰) के प्रमुख

भारतीय संविधान
राजव्यवस्था

भारतीय संविधान 12 अनुसूचियां 11 कर्तव्य नागरिकता

भारतीय संविधान, भारत का सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया है। जबकि 26 जनवरी का दिन भारत में गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। भीमराव आम्बेडकर को भारतीय संविधान का

Hindibag Courses

जीवन परिचय के प्रकार, लेखकों का जीवन परिचय, जीवन परिचय

जीवन परिचय

किसी व्यक्ति विशेष के जीवन वृतांत को जीवनी कहते हैं। किसी भी व्यक्ति की संपूर्ण जानकारी देना जीवन परिचय कहलाता है। अधिकतर जीवन परिचय किसी लेखक या रचनाकार के लिखे जाते हैं। किसी भी व्यक्ति का जीवन परिचय लिखते समय सबसे पहले उसके जन्म स्थान को लिखे फिर उसके जन्म का वर्ष लिखें इसके बाद उसकी प्रारंभिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा के बारे में लिखे फिर उनके परिवार के बारे में लिखे, उनके व्योसाए के बारे में लिखे, उनकी निजी जिंदगी के बारे में लिखे, अंत में उनकी उपलब्धियों के बारे में लिखें।

लेखन विकास, संस्कृत निबंध संग्रह

संस्कृत निबंध संग्रह

संस्कृत भाषा भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसका योगदान विश्व के लिए अद्वितीय है। यह भाषा हमें हमारे विचारों को सटीक और सुंदर भाषा में व्यक्त करने का तरीका सिखाती है और भारतीय साहित्य और धार्मिक ग्रंथों का दुनिया के साथ साझा करने का माध्यम है। हम सभी को इस महत्वपूर्ण भाषा का सम्मान करना चाहिए और इसके अध्ययन और प्रशंसा के माध्यम से इसे जीवंत रखने का प्रयास करना चाहिए।

कक्षा 12 हिंदी

कक्षा 12 हिंदी

कक्षा 12 हिंदी Question Bank को एक विशेष रूप से इंटरमीडिएट के ऐसे विद्यार्थियों के लिए रचित किया गया है, जो कम समय में अधिक से अधिक नंबर लाना चाहते हैं। वास्तव में हमारे लिए यह असीम गौरव का विषय है कि अपनी विशिष्ट शैली, गुणवत्ता एवं उपयोगिता के आधार पर इस श्रृंखला ने सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए सफलता

कक्षा 10 हिंदी

कक्षा 10 हिंदी

कक्षा 10 हिंदी पाठ्यक्रम में आमतौर पर हिंदी भाषा, साहित्य, और व्याकरण के तीन मुख्य घटक होते हैं। यह कक्षा 10 के छात्रों को हिंदी भाषा के प्रयोग, समझ, और उनके लेखन कौशल को विकसित करने का अवसर प्रदान करता है, साथ ही हिंदी साहित्य के महत्वपूर्ण पाठ्यक्रमों को भी शामिल करता है। कुछ प्रमुख विषय जो कक्षा 10 के

कक्षा 9 हिंदी

कक्षा 9 हिंदी

कक्षा 9 हिंदी पाठ्यक्रम में आमतौर पर हिंदी भाषा, साहित्य, और व्याकरण के तीन मुख्य घटक होते हैं। यह कक्षा 9 के छात्रों को हिंदी भाषा के प्रयोग, समझ, और उनके लेखन कौशल को विकसित करने का अवसर प्रदान करता है, साथ ही हिंदी साहित्य के महत्वपूर्ण पाठ्यक्रमों को भी शामिल करता है। कुछ प्रमुख विषय जो कक्षा 9 के

×