भारतीय शिक्षा प्रणाली का विकास

मुक्त विश्वविद्यालय

मुक्त विश्वविद्यालय

शिक्षा के क्षेत्र में मुक्त विश्वविद्यालय एक नवीन अवधारणा है। मुक्त विश्वविद्यालय का अर्थ उस विश्वविद्यालय से है जो विश्वविद्यालय परिसर से दूर रहने वाले छात्रों को शिक्षा प्रदान करता है। मुक्त विश्वविद्यालय के द्वार छात्रों के लिए सदैव खुले रहते हैं। इससे यह अभिप्राय है कि मुक्त विश्वविद्यालय के अंतर्गत शिक्षा प्राप्त करने के …

मुक्त विश्वविद्यालय Read More »

Caste system and Social Reform, दलित समस्या समाधान, घरेलू हिंसा

दूरस्थ शिक्षा की आवश्यकता

दूरस्थ शिक्षा की आवश्यकता समझना बहुत ही आवश्यक है। दूरस्थ शिक्षा क्यों जरूरी है? दूरस्थ शिक्षा नि:संदेह बीसवीं सदी की देन है, परंतु इसकी आवश्यकता 21वीं सदी में ज्यादा महसूस की जा रही है। आधुनिक युग में दूरस्थ शिक्षा की आवश्यकता बढ़ने के महत्वपूर्ण कारण निम्न है- 1. जनसंख्या विस्फोट 1947 में जब भारत आजाद …

दूरस्थ शिक्षा की आवश्यकता Read More »

दूरस्थ शिक्षा, नेतृत्व

दूरस्थ शिक्षा अर्थ परिभाषा

दूरस्थ शिक्षा से तात्पर्य ऐसी शिक्षा से है जिनके माध्यम से उन दूरदराज के लोगों को शिक्षित किया जाना है। जो किन्ही कारणों से औपचारिक शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह गए थे। ऐसे शिक्षा के अंतर्गत शिक्षार्थी को किसी विद्यालय, महाविद्यालय विश्वविद्यालय में दाखिला लेना नहीं पड़ता, अपितु वे अपने निवास स्थान पर रहते …

दूरस्थ शिक्षा अर्थ परिभाषा Read More »

दोषयुक्त परीक्षा प्रणाली

शैक्षिक स्तर गिरने के कारण

शैक्षिक स्तर गिरने के कारण – स्वतंत्रता के बाद से यही कहा जा रहा है कि देश में शिक्षा का स्तर गिर रहा है। इस बीच देश में शिक्षा के संबंध में जितने भी आयोग का गठन (विश्वविद्यालय आयोग, माध्यमिक शिक्षा आयोग, राष्ट्रीय शिक्षा आयोग) किया गया। सभी ने शिक्षा के स्तर गिरने की बात …

शैक्षिक स्तर गिरने के कारण Read More »

ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड

ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड से तात्पर्य प्राथमिक स्कूलों को न्यूनतम आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। स्कूल सुधार योजना के एक आंशिक हिस्से के रूप में यह कार्यक्रम संपूर्ण देश में लागू किया गया है। ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड स्कूलों में आवश्यक न्यूनतम शिक्षण सहायक सामग्री को उपलब्ध कराना मात्र नहीं है अपितु यह एक मानसिकता और आचरण …

ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड Read More »

उच्च शिक्षा के उद्देश्य, विश्वविद्यालय शिक्षा प्रशासन, नेता के सामान्य गुण

उच्च शिक्षा समस्याएं

उच्च शिक्षा समस्याएं – भारत में विभिन्न स्तरों की शिक्षा के उद्देश्य निश्चित करने का कार्य सर्वप्रथम वुड के घोषणा पत्र में किया गया। इसके बाद भारत में जो भी शिक्षा आयोग गठित किए गए सभी ने विभिन्न स्तरों की शिक्षा के उद्देश्य स्पष्ट करने का कार्य जारी रखा। 15 अगस्त 1947 को देश की …

उच्च शिक्षा समस्याएं Read More »

वैदिककालीन शिक्षा, उच्च शिक्षा के उद्देश्य,

विश्वविद्यालय संप्रभुता

विश्वविद्यालय संप्रभुता से अभिप्राय विश्वविद्यालयों को कार्य प्रवेश अनुसंधान तथा प्रशासन संबंधी स्वाधीनता से है। वर्तमान समय में विश्वविद्यालयों की प्रभुसत्ता पर अनेक राजनीतिक नियंत्रण है। आयोग ने विश्वविद्यालय की प्रभुसत्ता के तीन क्षेत्र बताए हैं- विद्यार्थियों का चयन अध्यापकों की नियुक्ति और पदोन्नति पाठ्यक्रमों तथा शिक्षण विधियों का निर्धारण और अनुसंधान के क्षेत्र तथा …

विश्वविद्यालय संप्रभुता Read More »

विश्वविद्यालय के कार्य

विश्वविद्यालय के कार्य – विश्वविद्यालय (युनिवर्सिटी) वह संस्था है जिसमें सभी प्रकार की विद्याओं की उच्च कोटि की शिक्षा दी जाती हो, परीक्षा ली जाती हो तथा लोगों को विद्या संबंधी उपाधियाँ आदि प्रदान की जाती हों। इसके अंतर्गत विश्वविद्यालय के मैदान, भवन, प्रभाग, तथा विद्यार्थियों का संगठन आदि भी सम्मिलित हैं। विश्वविद्यालय के कार्य …

विश्वविद्यालय के कार्य Read More »

लार्ड कर्जन की शिक्षा नीति, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान

शिक्षक शिक्षा की समस्याएं

स्वतंत्रता प्राप्ति के समय से ही भारतीय अध्यापक शिक्षा में बहुत अधिक सुधार हुए हैं, परंतु फिर भी सभी समस्याओं का हल खोजना संभव नहीं हो सका है। शिक्षक शिक्षा की समस्याएं शिक्षक शिक्षा की समस्याएं अति विचारणीय है जो कि इस प्रकार हैं – विविध स्तरीय प्रशिक्षण में संपर्क ना होना। बुनियादी एवं गैर …

शिक्षक शिक्षा की समस्याएं Read More »

वैदिककालीन शिक्षा, उच्च शिक्षा के उद्देश्य,

उच्च शिक्षा के उद्देश्य

उच्च शिक्षा के उद्देश्य – भारत में विभिन्न स्तरों की शिक्षा के उद्देश्य निश्चित करने का कार्य सर्वप्रथम वुड के घोषणा पत्र में किया गया।इसके बाद भारत में जो भी शिक्षा आयोग गठित किए गए सभी ने विभिन्न स्तरों की शिक्षा के उद्देश्य स्पष्ट करने का कार्य जारी रखा। 15 अगस्त 1947 को देश की …

उच्च शिक्षा के उद्देश्य Read More »

भारतीय शिक्षा की समस्याएं, उदारवादी व उपयोगितावादी शिक्षा

वैदिककालीन शिक्षा गुण व दोष

वैदिककालीन शिक्षा गुण व दोष – धर्म और धार्मिक मान्यताएं भारतीय शिक्षा के पीछे हजारों वर्षों की शैक्षिक तथा सांस्कृतिक परंपरा का आधार हैं। प्राचीन काल में शिक्षा का आधार क्रियाएं थी। वैदिक क्रिया ही शिक्षा का प्रमुख आधार थी।समस्त जीवन धर्म से चलायमान था। भारतीय शिक्षा का प्रमुख ऐतिहासिक साक्ष्य वेद है। वैदिक युग …

वैदिककालीन शिक्षा गुण व दोष Read More »

वैदिककालीन शिक्षा के गुण

वैदिककालीन शिक्षा में गुरु शिष्य सम्बंध

वैदिककालीन शिक्षा में गुरु शिष्य सम्बंध विशेष प्रकार के थे, जोकि अत्यंत मधुर, आत्मीय एवं अनुकरणीय थे। वैदिक काल में गुरु और शिष्य के मध्य भरोसे और जिम्मेदारी के संबंध हुआ करते थे। गुरु शिष्यों के साथ पुत्रवतभावना से व्यवहार करते थे। और शिष्य भी गुरु को पिता तुल्य मानकर उनकी सभी आज्ञाओ का पालन …

वैदिककालीन शिक्षा में गुरु शिष्य सम्बंध Read More »

मुस्लिमकालीन शिक्षा

वैदिककालीन शिक्षा के उद्देश्य

वैदिककालीन शिक्षा के उद्देश्य शिक्षा स्वरूप तथा उसकी गंभीरता से यह स्पष्ट होता है कि तत्कालीन शिक्षा के उक्त उद्देश्यों के साथ-साथ एक अति महत्वपूर्ण उद्देश्य तथा आदर्श ज्ञान का विकास था। ईश्वर भक्ति तथा धार्मिकता की भावना चरित्र निर्माण व्यक्तित्व का विकास नागरिक तथा सामाजिक कर्तव्यों का पालन सामाजिक कुशलता की उन्नति और राष्ट्रीय संस्कृति का …

वैदिककालीन शिक्षा के उद्देश्य Read More »

सूक्ष्म शिक्षण, शिक्षण तकनीकी

प्रशिक्षित अप्रशिक्षित शिक्षक में अंतर

प्रशिक्षित अप्रशिक्षित शिक्षक – शिक्षक ही विद्यालय तथा शिक्षा पद्धति की प्रमुख गत्यात्मक सकती है परंतु यह भी सत्य है कि विद्यालय भवन, पाठ्यक्रम, पाठ्य सहगामी क्रियाएं, निर्देशन आदि सभी वस्तुएं शैक्षिक कार्यक्रम में महत्वपूर्ण स्थान रखती है। इन सबसे भी अधिक महत्वपूर्ण एक विषय है, शिक्षक का प्रशिक्षित होना क्योंकि शिक्षक ही आने वाली …

प्रशिक्षित अप्रशिक्षित शिक्षक में अंतर Read More »

प्रौढ़ शिक्षा की समस्याएं

प्रौढ़ शिक्षा की समस्याएं – प्रौढ़ शिक्षा निर्विवाद रूप से एक राष्ट्रीय आवश्यकता है। विकास का संबंध केवल कल कारखानों, बांधों और सड़कों से नहीं, इसका संबंध बुनियादी तौर पर लोगों के जीवन से है। इसका लक्ष्य है कि लोगों की भौतिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक उन्नति। मानवीय पक्ष तथा उससे जुड़ी हुई बातें सबसे महत्वपूर्ण …

प्रौढ़ शिक्षा की समस्याएं Read More »