पर्यावरण शिक्षा

पर्यावरण पर्यावरण शिक्षा पर्यावरण परिवर्तन के कारण
पर्यावरण अवनयन पर्यावरण संबंधी कानून पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986
पारिस्थितिक पिरामिड जलवायु परिवर्तन प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा
माध्यमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा विश्वविद्यालय स्तर पर पर्यावरण शिक्षा
पर्यावरण अज्ञानता

पर्यावरण संबंधी कानून

पर्यावरण संबंधी कानून पर्यावरण प्रबन्धन का एक महत्त्वपूर्ण पक्ष है। कानून के माध्यम से पर्यावरण की रक्षा करना अथवा पर्यावरण को हानि पहुँचाने पर सजा का प्रावधान करना। पर्यावरण संबंधी कानून की आवश्यकता इसलिए अधिक होती है कि जब व्यावसायिकता के आधार पर संसाधनों का शोषण होता है, अथवा अधिकतम लाभ प्राप्ति हेतु उद्योगों की …

पर्यावरण संबंधी कानून Read More »

Environment education, विश्वविद्यालय स्तर पर पर्यावरण शिक्षा

पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986

पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 – यह अधिनियम पर्यावरण संरक्षण तथा उन्नयन एवं इससे सम्बन्धित तथ्यों का संरक्षण करता है। जून, 1972 में स्टाकहोम में मानवीय पर्यावरण को लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ ने जो निर्णय लिये थे, उनमें भारत ने भी हिस्सा लिया एवं आश्वस्त किया कि मानवीय पर्यावरण के संरक्षण एवं सुधार के लिए यथासम्भव …

पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 Read More »

पर्यावरण अज्ञानता

विश्वविद्यालय स्तर पर पर्यावरण शिक्षा

विश्वविद्यालय स्तर पर पर्यावरण शिक्षा – विश्वविद्यालयों में शिक्षा स्नातक कक्षाओं से आरम्भ होकर उच्च स्तर तक जाती है। विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने वाले छात्रों की आयु प्रायः 18 से लेकर 25 वर्ष के मध्य रहती है। इस आयु के छात्र पूरी तरह से विचरणीय अर्थात् परिपक्व हो जाते हैं, क्योंकि वे किसी भी समस्या …

विश्वविद्यालय स्तर पर पर्यावरण शिक्षा Read More »

नदी से निकली हुई बोतलें

माध्यमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा

माध्यमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा कक्षा नवमीं से लेकर कक्षा बारहवीं तक के छात्रों को प्रदान की जाती है। इन कक्षाओं के छात्रों की उम्र 15 वर्ष से लेकर 18 वर्ष के मध्य होती है। इस आयु के छात्रों का मानसिक स्तर ऐसा होता है कि वे किसी भी कार्य को ठीक प्रकार कार्यान्वित कर …

माध्यमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा Read More »

भाषा के रूप, मातृभाषा, प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा

प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा

प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य देश के पाँच से लेकर चौदह वर्ष तक के बच्चों में पर्यावरण के प्रति जागरुकता पैदा करना है। बच्चे किसी भी देश का भविष्य होते हैं। यदि बच्चों में अच्छी आदतों एवं विचारों को प्रारम्भ से ही समझाकर बताया जाये तो निश्चित ही उस देश का भविष्य …

प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा Read More »

जलवायु परिवर्तन

जलवायु परिवर्तन

जलवायु परिवर्तन – अनियन्त्रित औद्योगिक विकास ने पृथ्वी, जल, वायु और आकश का जो हाल कर दिया है वह विश्व भर में वैज्ञानिकों की गम्भीर चिन्ता का विषय बन गया है। यही हाल रहा तो ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जल्द ही दुनिया रहने लायक नहीं बचेगी प्रदूषित पर्यावरण ऐसी दीर्घकालीन समस्याएँ पैदा करेगा, …

जलवायु परिवर्तन Read More »

पारिस्थितिक पिरामिड

पारिस्थितिक पिरामिड

पारिस्थितिक पिरामिड – प्रत्येक पारिस्थितिक तंत्र में प्राथमिक उत्पादों, प्रथम व द्वितीय श्रेणी के उपभोक्ताओं तथा शीर्ष मांसाहारी जीवों की संख्या, जैव भार और ऊर्जा मात्रा में कुछ सम्बन्ध होता है। अगर उत्पादों एवं उपभोक्ताओं के बीच उनकी संख्या, जैवभार एवं ऊर्जा मात्रा के सम्बन्धों का आलेखी निरूपण किया जाये, तो एक स्तूपाकार आकृति बनती …

पारिस्थितिक पिरामिड Read More »

पर्यावरण के घटक

पर्यावरण शिक्षा

पर्यावरण शिक्षा वह शिक्षा है जो पर्यावरण के माध्यम से, पर्यावरण के विषय और पर्यावरण के लिए प्रदान की जाती है। यह शिक्षा व्यक्ति को पर्यावरण से अनुकूलन करना ही नहीं सिखाती बल्कि उसे पर्यावरण पर नियंत्रण रखने की क्षमता प्रदान करती है। पर्यावरण शिक्षा व्यक्ति को पर्यावरण समस्याओं से सम्बन्धित ज्ञान तथा मूल्यों के …

पर्यावरण शिक्षा Read More »