बाल मनोविज्ञान क्या है?

बाल मनोविज्ञान का जन्मदाता दर्शनशास्त्र philosophy ही है। आज से कुछ वर्ष पूर्व मनोविज्ञान अलग विषय के रूप में विकसित नहीं था बल्कि यह दर्शनशास्त्र की ही एक शाखा के रूप में था। मनोविज्ञान अंग्रेजी भाषा के शब्द साइकोलॉजि psychology का हिंदी रूपांतरण है।

साइकोलॉजी शब्द दो शब्दों के जोड़ से बना है अर्थात साइक + लोगोस। साइक का अर्थ है आत्मा तथा लोगों का अर्थ है विज्ञान अर्थात इसका अर्थ यह हुआ कि आत्मा का विज्ञान। अतः आत्मा के विज्ञान को ही साइकोलॉजि कहा जाता है।

मनोविज्ञान

मनोविज्ञान के जनक अरस्तु को माना जाता है। मनोविज्ञान को निम्न प्रकार परिभाषित किया गया है –

मनोविज्ञान को आत्मा का विज्ञान माना है।

गैरिट

मनोविज्ञान व्यवहार का निश्चित विज्ञान है।

वाटसन

मनोविज्ञान वातावरण के संबंध में व्यक्ति की क्रियाओं का वैज्ञानिक अध्ययन है।

वुडवर्थ

मनोविज्ञान जीवन की सभी प्रकार की परिस्थितियों में प्राणी की प्रक्रियाओं का अध्ययन करता है। प्रक्रियाओं अथवा व्यवहार का तात्पर्य है – प्राणी की सब प्रकार की गतिविधियां, समायोजनाएं, क्रियाएं और अभिव्यक्तियां

स्किनर

मनोविज्ञान वातावरण के संपर्क में होने वाले मानव व्यवहारों का विज्ञान है।

वुडवर्थ

मनोविज्ञान मानव व्यवहार का विज्ञान है।

कालसानिक
बाल मनोविज्ञान
बाल मनोविज्ञान

बाल मनोविज्ञान

बालकों का अध्ययन जब मनोविज्ञान के अंतर्गत किया जाता है तो वह बाल मनोविज्ञान कहलाता है। यह दो शब्दों बाल और मनोविज्ञान से मिलकर बना है। अर्थ विज्ञान की वह शाखा से है जो बालकों के व्यवहारों का अध्ययन गर्भावस्था से लेकर किशोरावस्था तक करती है। बाल मनोविज्ञान के जनक पेस्टोलॉजी को माना जाता है।

  • बाल मनोविज्ञान बच्चों के व्यवहार से संबंधित मनोविज्ञान है।
  • इससे बच्चों की व्यक्तिक विभिन्नताओं का ध्यान रखा जाता है।
  • यह बाल केंद्रित शिक्षा पर बल देता है।
  • बालक का विकास गर्भाधान से प्रारंभ हो जाता है और जीवन पर्यंत चलता है।
  • बालक आंतरिक वातावरण से मिलकर बाय वातावरण में आता है।
  • बाल मनोविज्ञान में बालक की स्मृति, कल्पना, स्वभाव, धारण, शक्ति, अभिप्रेरणा आदि का अध्ययन किया जाता है।

अनेक मनोवैज्ञानिकों ने बाल मनोविज्ञान को निम्न प्रकार परिभाषित किया है –

बाल मनोविज्ञान का वैज्ञानिक अध्ययन है जो व्यक्ति के विकास का अध्ययन गरबा काल की प्रारंभिक अवस्था से किशोरावस्था तक करता है।

क्रो एंड क्रो

बाल मनोविज्ञान वाला के मनोवैज्ञानिक प्रतिभाओं के विकास से संबंधित विज्ञान है जो शिशु जन्म पूर्व जन्म के समय सरस्वास्था बाल्यावस्था किशोरावस्था परिपक्व अवस्था तत्व बालक के मनोवैज्ञानिक विकास की प्रक्रियाओं का अध्ययन करता है।

आइजनेक

बाल मनोविज्ञान मनोविज्ञान की भाषा का जो प्राणी के विकास का अध्ययन जन्म से परिपक्वता तक करती है।

जेम्स ड्रेवर
बाल मनोविज्ञान क्या है?बाल विकासबाल विकास के सिद्धांत
विकासवृद्धि और विकास प्रकृति व अंतरमानव विकास की अवस्थाएं
मानव का शारीरिक विकाससृजनात्मकताशैशवावस्था में मानसिक विकास
बाल्यावस्था में मानसिक विकासशिक्षा मनोविज्ञानप्रगतिशील शिक्षा – 4 Top Objective
बाल केन्द्रित शिक्षाकिशोरावस्था में सामाजिक विकाससामाजिक विकास
बाल विकास के क्षेत्रनिरीक्षण विधि Observation Methodविशिष्ट बालकों के प्रकार
समावेशी बालकप्रतिभाशाली बालकश्रवण विकलांगता
श्रवण विकलांगतासमस्यात्मक बालक – 5 Top Qualitiesसृजनात्मक बालक Creative Child
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Shopping Cart