तक्षशिला विश्वविद्यालय

तक्षशिला विश्वविद्यालय वर्तमान पाकिस्तान के रावलपिडी शहर से 35 कि•मी• उत्तर की ओर स्थित था। तक्षशिला नगर तत्कालीन राज्य की राजधानी था। वैदिक काल में यह वैदिककालीन शिक्षा का मुख्य केंद्र था। बाद में यह बौद्धकालीन शिक्षा के मुख्य केंद्र के रूप में विकसित हुआ।

तक्षशिला विश्वविद्यालय

यह विश्व का प्रथम विश्विद्यालय था जिसकी स्थापना 700 वर्ष ईसा पूर्व में की गई थी। तक्षशिला विश्वविद्यालय के बड़े-बड़े शिक्षण कक्ष सभा भवन, विशाल पुस्तकालय, शिक्षक निवास भवन, छात्रावास तथा भोजनालय आदि का निर्माण एवं संचालन प्रारंभ हुआ। इस विश्वविद्यालय का प्रमुख शिक्षक कुलपति होता था। जिसकी अध्यक्षता में प्रमुख समितियों का गठन किया जाता था जो विश्वविद्यालय के विभिन्न कार्यों के संपादन एवं देख-रेख के लिए उत्तरदाई होते थे।

तक्षशिला विश्वविद्यालय
तक्षशिला विश्वविद्यालय

तक्षशिला विश्वविद्यालय में प्रवेश की न्यूनतम आयु 16 वर्ष थी, प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा होती थी। केवल सफल छात्रों को ही प्रवेश दिया जाता था। प्रवेश के समय प्रत्येक छात्र को तत्कालीन 1000 मुद्राएं शुल्क के रूप में देनी पड़ती थी जो एक साथ सारी मुद्राएं नहीं दे सकते थे। वह सुविधानुसार दे सकते थे। जो शुल्क नहीं दे सकते थे, वह विश्वविद्यालय में सेवा कार्य करके शिक्षा प्राप्त करते थे।

प्राचीन भारतीय साहित्य के अनुसार कौटिल्य, जीवक, चन्द्रगुप्त, पाणिनी, कौशलराज, प्रसेनजित आदि महापुरुषों ने इसी विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त की।

इसी विश्वविद्यालय में वैदिक एवं बौद्ध धर्म की शिक्षा के साथ-साथ संस्कृत, पालि भाषा, वैदिक बौद्ध साहित्य, व्याकरण, दर्शन, ज्योतिष, अर्थशास्त्र की शिक्षा की उत्तम व्यवस्था थी। शिक्षा पूरी होने पर छात्रों की परीक्षा होती थी तथा सफल छात्रों को प्रमाण पत्र दिए जाते थे।

यह संसार का सबसे पहला विश्वविद्यालय था जिसे यूनेस्को ने इसे अंतरराष्ट्रीय धरोहर माना है। पांचवी सदी में बर्बर हूणों ने इसे नष्ट कर दिया।

वैदिककालीन शिक्षाबौद्धकालीन शिक्षामुस्लिमकालीन शिक्षा
तक्षशिला विश्वविद्यालयमैकाले का विवरण पत्र 1835लॉर्ड विलियम बैंटिक की शिक्षा नीति
वुड का घोषणा पत्रहण्टर आयोगलार्ड कर्जन की शिक्षा नीति
सैडलर आयोग 1917सार्जेण्ट रिपोर्ट 1944मुदालियर आयोग 1952
कोठारी आयोग 1964राष्ट्रीय पाठ्यक्रम 2005बेसिक शिक्षा
विश्वविद्यालय शिक्षा आयोगशिक्षा का राष्ट्रीयकरणत्रिभाषा सूत्र
राष्ट्रीय साक्षरता मिशनप्रौढ़ शिक्षा अर्थप्रशिक्षित अप्रशिक्षित शिक्षक में अंतर
दूरस्थ शिक्षा अर्थ परिभाषाऑपरेशन ब्लैक बोर्डशिक्षक शिक्षा की समस्याएं
विश्वविद्यालय संप्रभुताउच्च शिक्षा समस्याएंउच्च शिक्षा समस्याएं
उच्च शिक्षा के उद्देश्यशैक्षिक स्तर गिरने के कारणमुक्त विश्वविद्यालय
मुक्त विश्वविद्यालय के उद्देश्यशिक्षा का व्यवसायीकरणसर्व शिक्षा अभियान
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments